Dosti shayri

साथ रहते यूँ ही वक़्त गुजर जायेगा,
दूर होने के बाद कौन किसे याद आयेगा,
जी लो ये पल जब तक साथ है दोस्तों,
कल क्या पता वक़्त कहाँ ले के जायेगा।

Saath Rehte Yoon Hi Waqt Gujar Jayega,
Dur Hone Ke Baad Kaun Kise Yaad Aayega,
Jee Lo Ye Pal Jab Tak Sath Hai Dosto,
Kal Ka Kya Pata Waqt Kahan Le Ke Jayega.

Dosti shayri

तन्हाई सी थी दुनिया की भीड़ में,
सोचा कोई अपना नहीं तकदीर में,
एक दिन जब दोस्ती की आप से तो यूँ लगा,
कुछ ख़ास था मेरे हाथ की लकीर में।

Tanhai Si Thi Duniya Ki Bheed Mein,
Socha Koi Apna Nahi Takdeer Mein,
Ek Din Jab Dosti Ki Aap Se To Yoon Laga,
Kuchh Khaas Tha Mere Haath Ki Lakeer Mein.

दोस्ती का फ़र्ज़ यूँ ही निभाते रहेंगे
वक्त बेवक्त आपको सताते रहेंगे
दुआ करो के उम्र लम्बी हो हमारी
वरना याद बन के आपको सताते रहेंगे. 👬

Dosti Ka Farz Yun Hi Nibhate Rahenge
Wakt Bewakt Aapko Satate Rahenge
Dua Karo Ke Umar Lambi Ho Hamari
Varna Yaad Ban Ke Aapko Satate Rahenge. 👬

चुप रहते हैं के कोई खता न हो जाए
हमसे कोई रुस्वा न हो जाए
बड़ी मुश्किल से कोई अपना बना है
मिलने से पहले ही जुदा न हो जाए.

Chup Rahte Hain Ke Koi Khata Na Ho Jaaye
Humse Koi Ruswa Na Ho Jaaye
Badi Muskil Se Koi Apna Bana Hai
Milne Se Pahle Hi Juda Na Ho Jaaye.

तूफ़ान से उजड़ी हुआ बस्ती फिर बस जाती है
हर पतझड़ के बाद बहार आ जाती है
मगर ऐ दोस्त तू क्या जाने दोस्ती की कदर,
तेरी ज़िन्दगी में सुबह होने से पहले ही शाम आजाती है.

Tufaan se ujadi huya basti fir bas jaati hai
Har patjhad ke baad bahaar aa jati hai
Magar e dost tu kyaa jaane dosti ki kadar
Teri zindagi mein subah hone se pehle hi sham ajaati hai.

उन फूलों से दोस्ती क्या करोगे
जो एक दिन मुरझा जायेंगे
करना है दोस्ती तो हम जैसे काँटों से करो
जो एक बार चुभे तो बार-बार याद आएंगे.

Unn phoolon se dosti kya karoge
Jo ek din murjha jayenge
Karna hai dosti to hum jaise kaanton se karo
Jo ek baar chubhe toh baar-baar yaad ayenge.

जिस लड़की क चेहरे पर आज कल नक़ाब होता है,
वो नक़ाब आशिक़ के लिए अज़ाब होता है,
मत मारना नक़ाब वाली लड़की पे मेरे दोस्त,
खूबसूरत पैकिंग में माल अक्सर ख़राब होता है. 👬

Jis ladki k chehre par aaj kal naqab hota hai,
Wo naqab ashiq k liye azab hota hai,
Mat marna naqab wali ladki pe mere dost,
Khubsurat packing me maal aksar kharab hota hai. 👬

फिर उम्मीदों भरी सुबह आई है,
सूरज को साथ लाई है,
हमारी दोस्ती का ये असर तो देखो,
की हवाएं भी आपको गुड मॉर्निंग कहने आई है.

Fir umido bhari SUBAH aayi hai,
SURAJ ko sath layi hai,
Hamari dosti ka ye asar to dekho,
Ki Hawaye bhi aapko Good Morning Kehne aayi hai.

ऐ चाँद मेरे दोस्त को एक तोहफ़ा देना,
तारों की महफ़िल संग रौशनी करना,
छुपा लेना अंधेरे को.. हर रात के बाद एक खूबसूरत सवेरा देना. 👬

Ae chand mere dost ko ek tohfa dena,
Taro ki mehfil sang roshni karna,
Chhupa lena andhere ko.. Har raat ke baad ek khubsurat savera dena. 👬

अगर मिलती मुझे दो दिन की बादशाहत,
ऐ दोस्त तो हमारी रियासत में तेरे नाम के सिक्के चला करते..

Agar milti mujhe do din ki Baadsahat,
Ae Dost To Hamari Riyast Me Tere Naam Ke Sikke Chala Karte..

दुनिया में सभी है अजनबी,
हम हैं आपके लिए अजनबी,
आप हैं मेरे लिए अजनबी,
ये अजनबी ही बन जाते हैं ज़िंदगी,
की अजनबी से ही होती है मोहब्बत और दोस्ती.

Duniya me sabhi hain ajnabi,
Hum hain aap ke liye ajnabi,
Aap hain mere liye ajnabi,
Ye ajnabi hi ban jate hain zindgi,
Kyuki ajnabi se hi hoti hai mohabbat aur dosti.

बहुत खूबसूरत होते है,
वो पल जब कोई दोस्त साथ होते है,
लेकिन उससे भी खूबसूरत होते है,
वो लम्हे जब दूर रहकर भी वो हमें याद करते है. गुड नाईट 👬

Bahut khubsurat hote hai,
Wo pal jab koi dost saath hote hai,
Lekin usse bhi khubsurat hote hai,
Wo lamhe jab dur rahkar bhi wo humein yaad karte hai. Good Night 👬

दिल में जगे अरमानो को कभी मिटा न देना,
देकर होतो को कभी रुला न देना,
इस बात का बहाना की हम दूर है आपसे,
कभी अपने इस दोस्त को भुला न देना.

Dil me jage armano ko kabhi mita na dena,
Dekar hoto ko kabhi rula na dena,
Is baat ka bahana ki hum dur hai apse,
Kabhi apne is dost ko bhula na dena.

सवाल पानी का नहीं, प्यास का है,
सवाल मौत का नहीं, साँस का है,
दोस्त तो दुनिया में बहुत है मगर,
सवाल दोस्ती का नहीं प्यार का है। 👫

Sawaal Paani Ka Nahin, Pyaas Ka Hai,
Sawaal Maut Ka Nahin, Saans Ka Hai,
Dost To Duniya Mein Bahut Hai Magar,
Sawaal Dosti Ka Nahin Pyaar Ka Hai.

किसे बताये तुम्हे कितना प्यार करते है,
सोचते है कह दे पर कहने से डरते है,
कही दोस्ती का रिश्ता टूट न जाये हमारा,
बस इसलिए हम चुप रहा करते है।

Kise Bataye Tumhe Kitna Pyar Karte Hai,
Sochte Hai Kah De Par Kahne Se Darte Hai,
Kahi Dosti Ka Rista Tut Na Jaye Hamara,
Bas Isliye Ham Chup Raha Karte Hai.

आपके प्यार की इनायत चाहिए,
दिल है बे-घर उसे एक घर चाहिए,
बस यही साथ चलते रहो ऐ-दोस्त,
ये साथ हमें उम्र भर चाहिए। 👫

Apke Pyar Ki Inayat Chahiye,
Dil Hai Beghar Usse Ek Ghar Chahiye,
Bas Yuhi Sath Chalte Raho E-Dost,
Ye Sath Hume Umar Bhar Chahiye.

झूठे है वो लोग .. जो कहा करते है प्यार खुछ नहीं दोस्ती के सामने ..
प्यार में तो लोग घर छोड़ दिया करते है .. दोस्ती क्या चीज़ है ..

Jhuthe hai wo log .. Jo kha karte hai pyar khuch ni dosti k samne ..
Pyar me to log ghar chod diya karte hai .. Dosti kya chez hai ..

रिश्तों का विश्वास टूट न जाये,
दोस्ती का साथ छूट न जाये,
ऐ खुदा गलती करने से पहले मुझे रोक लेना,
कही मेरी गलती से .. मेरा दोस्त रूठ न जाये।

Risto Ka Vishwas Tut Na Jaye,
Dosti Ka sath chhut Na Jaye,
Ae Khuda Galti Karne Se Pehle Mujhe Rok Lena,
Kahi Meri Galti Se .. Mera Dost Ruth Na Jaye.

मुस्कुराओ आप तो फूल खिल जाए,
बातें करो तो दिल मचल जाए,
इतनी दिलकश है आपकी दोस्ती,
दोस्त तो क्या दुश्मन भी आपकी दोस्ती पे फ़िदा हो जाये। 👫

Muskurao aap tho phool khil jaaye,
Baaten karo tho dil machal jaaye,
Ithni dilkash hai aapki dosti,
Dost tho kya dushman bhi aapki dosti pe fida ho jaye.

कभी अँधेरा तो कभी शाम होगी..
मेरी हर ख़ुशी आपके नाम होगी..
कभी कुछ माँग के तो देखो यारो..
होंठो पे हसी और हथेली पे जान होगी।

Kabhi andhera to kabhi shaam hogi..
Meri har khushi apke naam hogi..
Kabhi kuch mang ke to dekho yaaro..
Honto pe hasi aur hateli pe jaan hogi.

जान की बाज़ी लगा दी जुवारी बनकर,
दिल हतेली पर ले आये पुजारी बनकर,
जिस वक़्त दुआ क दरवाज़े खुलेंगे…
ए दोस्त मांग लेंगे तुझे खुदा से भिखारी बनकर.

Jaan ki baazi laga di juwari bankar,
Dil hateli par le aye pujari bankar,
Jis waqt dua k darwaaze khulenge..
A dost maang lenge tujhe khuda se bhikari bankar.

देखा है हमें भी आजमा कर,
दे जाते है धोखा लोग करीब आकर,
कहती है दुनिया मगर दिल नहीं मानता,
क्या आप भी भूल जाओगे हमे अपना दोस्त बनाकर!!

Dekha hai humane bhi aajma kar,
De jate hai dhokha log karib aakar,
Kahati hai duniya magar dil nahi manta,
Kya aap bhi bhool jaoge hume apna Dost banakr!!

कुछ मीठे पल हमेशा याद आते है,
पलकों पे आंसू छोड़ जाते है
कल कोई और मिले तो हमें न भूलना,
क्योंकि दोस्ती के रिश्ते जिंदगी भर काम आते है!!

Kuchh Meethe pal Hamesa Yaad Aate Hai,
Palako Pe Aanshu Chhod Jate Hai,
Kal Koi Aur Mile To Hume Na Bhoolana,
Kyoki Dosti Ke Riste Jingbhar Kaam Aate Hai!!

पत्थर बना दिया मुझे रोने नहीं दिया,
दामन भी तेरे ग़म ने बिगहोने नहीं दिया..
तन्हाईयाँ तुम्हारा पता पूछती रहीं,
रात भर तुम्हारी याद ने सोने नहीं दिया..
आँखों में आकर बैठ गई आँसूं की लहर,
पलकों पे कोई ख़्वाब पिरोने नहीं दिया..!!

Pathar Bana Diya Mujahy Rone Nahi Diya,
Daaman Bhi Tere Gham Ne Bighone Nahi Diya..
Tanhaiyan Tumhara Pata Poochhti Rahien,
Raat Bhar Tumhari Yaad Ne Sone Nahi Diya..
Ankhon Mein Aakar Beth Gai Annsoon Ki Lehar,
Palkon Pe Koi Khoawab Peerone Nahi Diya..!!

नज़र हमारी नज़र तुम्हारी,
नज़र ने दिल की नज़र उतारी,
नज़र ने देखा नज़र को ऐसे,
की नज़र न लगे इस दोस्ती को हमारी.

Nazar hamari nazar tumhari,
Nazar ne dil ki nazar utari,
Nazar ne dekha nazar ko aise,
Ki nazar na lage is dosti ko hamari.

जिंदगी के पल युही गुज़र जायेंगे,
ज़िंदगी में कुछ खोकर कुछ पाएंगे,
आज यहाँ है कल दूर चले जायेंगे,
पर वादा है आप के यादो में ज़रूर आएंगे.

Zindgi ke pal yuhi guzar jayenge,
Zindgi mein kuch khokar kuch payenge,
Aaj yaha hai kal dur chale jayenge,
Par wada he aap ke INBOX mein zarur ayenge.

इतना भी न रूठो मेरे यार की ..
मेरे दोस्त मेरा भी दिल टूट जाये,
हम इतने बेदर्द दोस्त नहीं है की ..
आपको दर्द देकर ये दोस्त चुप रह जाये.

Itana bhi na rutho mere yaar ki ..
Mere dost mera bhi dil toot jaye,
Hum itne bedard dost nahi hai ki ..
Aapko dard dekar ye dost chup rah jaye.

स्मार्ट हो आप तो बुरे हम भी नहीं,
इंटेलीजेंट हो आप तोह बुद्धू हम भी नहीं,
दोस्ती कर के कहते हो बिजी है हम,
याद करना हमसे सीखो फ्री तो हम भी नहीं.

Smart ho aap to bure hum bhi nahi,
Intelligent ho ap toh buddhu hum bhi nahi,
Dosti kar k kehte ho busy hai hum,
Yaad karna humse sikho free toh hum bhi nahi.

मुस्कान आपकी यादो से मिलती है,
दिल को राहत आपकी बातों से मिलती है,
बंद मत करना ये दोस्ती का सिलसिला,
दिल की धड़कन आपकी दोस्ती से चलती है. 👫

Muskan Aapki Yaado Se Milti Hai,
Dil Ko Rahat Aapki Baato Se Milti Hai,
Band Mat Karna Ye Dosti Ka Silsila,
Dil Ki Dhadkan Aapki Dosti Se Chalti Hai. 👫

हमारे पास आपकी “दोस्ती” का नजराना है,
लेकिन दिल तो आपकी दोस्ती का दीवाना है,
नए दोस्त मिले तो भुला न देना हमें,
क्यूंकि यह दोस्त आपका पुराना है.

Hamare Paas Aapki Dosti Ka Nazrana Hai,
Lekin Dil To Aapki Dosti Ka Deewana Hai,
Naye Dost Mile To Bhula Na Dena Hume,
Kyunki Yeh Dost Aapka Purana Hai.

अपनी ज़िंदगी से मुझे हटाने चले हो,
एक सताये हुए को सताने चले हो,
कितने नादान हो तुम मेरे दोस्त,
जो अपने हाथों की लकीरें मिटाने चले हो. 👫

Apni zindgi se mujhe hatane chale ho,
Ek staye hue ko stane chale ho,
Kitne naadan ho tum mere DOST,
Jo apne haton ki lakire mitane chale ho. 👫

मुद्दत से दूर थे आप और हम,
किस्मत ने जब मिलाया तो अच्छा लगा,
सागर से गहरी आपकी दोस्ती,
तैरना तो आता था मगर डूबना अच्छा.

Mudat se dur the aap or hum,
Kismat ne jab milaya to achha laga,
Sagar se gahari apki DOSTI,
Terna to aata tha magar dubna achha.

दिल्लगी दोस्तों के नाम होती है,
दिल्लगी दोस्तों की शान होती है,
दूर रह कर भी दोस्तों को याद करना,
असली दोस्त की पहचान होती है. 👫

Dil lagi DOSTO ke naam hoti hai,
Dil lagi DOSTO ki shan hoti hai,
Dur rah kar bhi DOSTO ko yaad karna,
Asli DOST ki pahchan hoti hai.

बेशक कुछ पल का इंतजार मिला हमको,
पर खुदा से बढ़ कर प्यार मिला हमको,
न रही तमन्ना किसी जन्नत की,
ऐ दोस्त तेरी दोस्ती से वो प्यार मिला हमको.

Besak kuchh pal ka intjar mila humko,
Par khuda se badh kar pyaar mila humko,
Na rahi tamanna kisi jannat ki,
Ai dost teri dosti se wo pyaar mila humko.

बीत जाते है दिन यादें सुहानी बनकर,
रह जाती है ज़िन्दगी बस एक कहानी बनकर,
पर दिल में दोस्ती तो हमेशा रहेगी,
कभी तड़प कर तो कभी आँखों का पानी बनकर. 👫

Beet jaate hai din yaade suhani bankar,
Reh jaati hai zindagi bus ek kahani bankar,
Par dil me dosti to hamesha rahegi,
Kabhi tadap kar to kabhi aankhon ka paani bankar.

खुशियाँ इतनी हो की आँखों में आँसू जम जाये,
लम्हें हो इतने हसीन कि वक्त भी थम जाये,
दोस्ती निभायेंगे हम आपसे इस तरह..
की साथ गुज़रा हर पल ज़िन्दगी बन जाये.

Khushiya Itni Ho Ki Aankhon Me Ansu Jam Jaye,
Lamhe Ho Itne Hasin Ki Waqt Bhi Tham Jaye,
Dosti Nibhayenge Hum Apse Is Tarha,
Ki Saath Guzra Har Pal Zindagi Ban Jaye.

बहारों फूल बरसाओ मेरा दोस्त आया है,
होठों पे मुस्कान गली में महक लाया है,
बरसो तक थी जिसे पानी से एलर्जी.
वो आज लक्स से नहाया है!

Baharo Phool barsao mera dost aaya hai,
hotho pe muskan gali me mahak laya hai,
barso tak thi jise pani se allergy.
wo aaj lux se nahaya hai!

दूरियों से फर्क नहीं पड़ता,
बात तो दिलों कि नज़दीकियों से होती है,
दोस्ती आप जैसे कुछ ख़ास लोगों से होती है,
वरना मुलाक़ात तो न जाने रोज़ कितने लोगों से होती है.

Dooriyon se farak nahi padta,
Baat to dilon ke nazdikiyon se hoti hai,
Dosti aap jaise kuch khaas logon se hoti hai,
Warna mulaqat to na jaane roz kitne logon se hoti hai.

पूछा मुझ से चाँद सितारों ने,
तुझे भुला दिया तेरे जिगरी यारो ने,
मैंने मुस्कुराते हुए कहा,
भूल तो नहीं सकते कमिने,
बस लगे होंगे किसी को पाटने में.

Pucha mujh se chand sitaro ne,
Tujhe bhula diya tere jigri yaaro ne,
Maine muskurate huye kaha,
Bhul to nahi sakte kamine,
Bas lage honge kisi ko patane mein.

याद न करो गे तो सताऊं गा,
रूठोगी तो मनाऊँ गा,
रो गी तो हसाऊँगा,
दोस्त हुन में तुम्हारा साया नहीं,
जो अँधेरे में साथ छोड़ जाउंगा.

Yad Na Karo Gi To Sataoun Ga,
Rotho Gi To Manaoun Ga,
Ro Gi To Hasaoun Ga,
Dost Hon Mein Tumhara Saya Nahi,
Jo Andhere Mein Sath Chor jaunga.

खुदा की बनाई कुदरत नहीं देखी,
दिलों में छुपी दौलत नहीं देखी,
जो कहता है दूरी से मिट जाती है दोस्ती,
उस ने शायद हमारी दोस्ती नहीं देखी.

Khuda Ki Banai Qudrat Nahi Dekhi,
Dilon Main Chupi Daulat Nahi Dekhi,
Jo Kehta Hai Doori Se Mit Jati Hai Dosti,
Us Ne Shayad Hamari Dosti Nahi Daikhi.

निगाहों में और कोई दोस्ती के काबिल न रहा,
इस किनारे का और कोई साहिल न रहा
चाँद जैसा दोस्त मिला हमे ज़मीन पर,
आसमा का चाँद भी अब दीदार के काबिल नहीं रहा.

Nigaho Me Or Koi Dosti Ke Kabil Na Raha,
Is Kinare Ka Or Koi Sahil Na Raha
Chand Jaisa Dost Mila Hume Zameen Par,
Aasma Ka Chand Bhi Ab Deedar K Kabil Nahi Raha.

God ने इश्क़ का रिश्ता बना दिया,
किसी को दुश्मन किसी को कातिल बना दिया,
डूब न जाए कोई इश्क के दरिया में इसलिए
आप जैसे दोस्तों को साहिल बना दिया.

God Ne Ishq Ka Rishta Bana Diya,
Kisi Ko Dusman Kisi Ko Qatil Bana Diya,
Dub Na Jaye Koi Ishq Ke Dariya Me Isiliye
Aap Jaise Dosto Ko Sahil Bana Diya.

पलके तो आँखे की हिफाज़त होती है,
धड़कन तो दिल की अमानत होती है,
ये दोस्ती का रिश्ता भी अजीब है,
कभी चाहत तो कभी शिकायत होती है.

Palke To Aankhe Ki Hifazat Hoti Hai,
Dhadkan To Dil Ki Amanat Hoti Hai,
Ye Dosti Ka Rishta Bhi Ajeeb Hai,
Kabhi Chahat To Kabhi Shikayat Hoti Hai.

दोस्त की दोस्ती से ज़िन्दगी सुनहरी होती है,
साथ उसके टूटि हर आस पूरी होती है,
मिले दोस्त ऐसा समझ जाये दिल की बात,
फिर कहा कोई भी बात ज़रूरी होती है.

Dost Ki Dosti Se Zindagi Sunehari Hoti Hai,
Saath Uske Tooti Har Aas Poori Hoti Hai,
Mile Dost Aisa Samjh Jaaye Dil Ki Baat,
Phir Kaha Koi Bhi Baat Zaroori Hoti Hai.

दोस्ती की वजह नहीं होती,
दोस्ती सजा नहीं होती,
दोस्ती में होती है ईमानदारी,
दोस्ती में दुनियदारी नहीं होती,
दोस्त जान से प्यारा होता है,
दोस्त से जान प्यारी नहीं होती.

Dosti ki wajah nahi hoti,
Dosti saza nahi hoti,
Dosti me hoti he imaandari,
Dosti me duniadari nahi hoti,
Dost jaan se pyara hota he,
Dost se jaan pyari nahi hoti.

रिश्तों के बंधन को विश्वास नहीं कहते,
हर आंसू को जज़्बात नही कहते,
किस्मत से मिलते है दोस्त जिंदगी में,
इसलिए दोस्ती को कभी इत्तेफ़ाक़ नहीं कहते!

Rishton ke bandhan ko vishwas nahi kahte,
Har aansoo ko jajbat nahi kahte..
Kismat se milte hai dost jindagi me,
Isliye dosti ko kabhi ittefak nahi kahte

एक दिन ज़िन्दगी ऐसे मुकाम पर पहुँच जाएगी,
दोस्ती तो सिर्फ यादों में रह जायेगी,
हर कप कॉफ़ी..याद दोस्तों की दिलाएगी,
औए हस्ते-हस्ते आँखें फिर नाम हो जायेगी.

Ek din zindagi aise muqaam par pahuch jayegi,
Dosti to sirf yaadon me reh jayegi,
Har cup coffee.. Yaad doston ki dilayegi,
Aue haste-haste aankhein fir nam ho jayegi.

दुआ करते हैं हम सरको झुकाये,
ऐ दोस्त तू अपनी मंज़िल को पाए,
अगर कभी तेरे राहों में अँधेरा आये तो,
रौशनी के लिए खुदा हम को जलाये.

Dua karte hain hum Sarko jhukaye,
Ae dost tu apni Manzil ko paye,
Agar Kabhi tere Raahon mein Andhera aaye to,
Roshni ke liye khuda hum ko Jalaye.

जब कोई ख्याल दिल से टकराता है,
दिल न चाह कर भी खामोश हो जाता है,
कोई सब कुछ कह कर दोस्ती जताता है,
तो कोई कुछ न कह के दोस्ती निभाता है.

Jab Koi Khayal Dil Se Takrata Hai,
Dil Na Chah Ker Bhi Khamosh Ho Jata Hai,
Koi Sab Kuch Keh Ker Dosti Jatata Hai,
To Koi Kuch Na Keh K Dosti Nibhata Ha.

Author

Write A Comment